Skip to content

549 या अधिक की खरीद पर डिलीवरी फ्री

449 या अधिक की खरीद पर कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प उपलब्ध (COD Charges: INR 50)
इंद्रप्रिया-indrapriya
(4 customer review)

139 (-7%)

Age Recommendation: Above 14 Years
ISBN: 9788195217106 SKU: SV919 Category:

Free Shipping for SV Prime Members

Estimated Dispatch: November 28, 2022

Check Shipping Days & Cost //

4 reviews for इंद्रप्रिया

5.0
Based on 4 reviews
5 star
100
100%
4 star
0%
3 star
0%
2 star
0%
1 star
0%
  1. Avatar

    Abhishek Singh Rajawat

    राय प्रवीना पर पर बहुत कम सामग्री उपलब्ध है, ऐसे में लेखक और प्रकाशक दोनों का एक सराहनीय कदम….

    (1) (0)
  2. Avatar

    Rishabh Rawat

    यह पुस्तक शुरू से लेके अंत तक ज़रा भी बोरियत महसूस नहीं होने देती। अत्यधिक लोभनीय पुस्तक।

    (1) (0)
  3. Avatar

    Nilesh Pawar

    बहुत दिनो बाद कोई ऐसी किताब पढ़ी जिसने मुगल काल के समय से परिचित करवाया।
    निः संदेह राय प्रवीन की बहुमुखी प्रतिभा को पाठको तक पहुंचने में लेखक सुधीर मौर्य की मेहनत प्रशंसा योग्य है।
    बुंदेलखंड के गौरव को बढ़ाने वाली राय प्रवीन के साथ साथ राजा इंद्रजीत, वीर सिंह, कवि केशव और अब्दुल रहीम खानखाना के वीरोचित गुणों को सामने लाने का महती कार्य यह किताब करती है।

    (1) (0)
  4. Avatar

    सिद्धार्थ अरोड़ा ‘सहर’ (सहपाठी)

    इस तरह की भाषा, इतिहास का ज्ञान और हिम्मत हौसले की दास्तान छपती रहनी चाहिए। बहुत बढ़िया।

    (1) (0)

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

Cancel

More Info

ऐतिहासिक उपन्यास इंद्रप्रिया, अपने समय की सर्वाधिक सुन्दर स्त्री, एकनिष्ठा नर्तकी, कुशल कवियत्री, समर्पित प्रेयसी, ओरछा की राय प्रवीना की केवल कथा भर नहीं है, अपितु यह दस्तावेज है, उस वीरांगना का जिसने कामुक शहंशाह अकबर के मुग़ल दरबार में अपनी विद्वता से न केवल अपनी अस्मिता की रक्षा की बल्कि उसने अकबर को पराजित भी किया.

Book Details

Weight 0.120 g
Dimensions 20 × 2 × 14 cm
Pages:   
श्रेणी/Category ऐतिहासिक उपन्यास, कल्पित कथा, किंवदंती Historical Fiction, Myth, Legends, Saga
भाषा/Language हिन्दी Hindi
फॉर्मेट/Format पेपरबैक Paperback
संस्करण/Edition प्रथम First
पृष्ठ संख्या/No. of Pages 128 128
आईएसबीएन/ISBN 9788195217106 9788195217106
भार/Weight 120 ग्राम 120 Gm
माप/Dimensions 20.5 x 12.8 x 0.9 से.मी. 20.5 x 12.8 x 0.9
एम आर पी/MRP 149/- रूपये Rs. 149/-
प्रकाशन तिथि/Publication Date 10/04/2021 10/04/2021
सुधीर मौर्य का जन्म उत्तर प्रदेश के औद्योगिक एवं साहित्यिक शहर कानपुर में हुआ। आपकी शिक्षा कानपुर एवं लखनऊ में हुई। आज कल आप मुंबई में एक निजी कंपनी में प्रबंधक के तौर पर कार्यरत हैं। बचपन से ही इन्हें पढ़ने और लिखने का शौक रहा। अपने इसी शौक के चलते हैं सुधीर मौर्य ने कहानियाँ और उपन्यास लिखने आरंभ किये। उनकी कुछ प्रमुख कृतियाँ ये हैं-हो ना हो (काव्य संग्रह), अधूरे पंख, कर्ज और अन्य कहानियाँ, एंजेल जिया, एक बेबाक लड़की (सभी कहानी संग्रह), एक गली कानपुर की, अमलतास के फूल, अरीबा, स्वीट सिक्सटीन, माय लास्ट अफेयर, वर्जित, मन्नत का तारा,संकटा प्रसाद के किस्से (सभी उपन्यास), देवलदेवी,हम्मीर हठ, इंद्रप्रिया (सभी ऐतिहासिक उपन्यास) पहला शूद्र, बली का राज आए, रावण वध के बाद, मणिकपाला महासम्मत (सभी पौराणिक उपन्यास) इसके अतिरिक्त सुधीर मौर्य की कहानियों कविताओं का प्रकाशन विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में हुआ है।