Skip to content

549 या अधिक की खरीद पर डिलीवरी फ्री

449 या अधिक की खरीद पर कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प उपलब्ध (COD Charges: INR 50)
बकर पुराण
प्रकाशक: हिंदयुग्म प्रकाशन

125 (-37%)

ISBN: 978-9384419370 SKU: HY1880 Category:

Free Shipping for SV Prime Members

Estimated Dispatch: November 28, 2022

Check Shipping Days & Cost //

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

More Info

बकर पुराण एक तरह से दिल्ली के बैचलर लड़कों के जीवन पर वृत्तचित्र है, जिसमें दिल्ली के एक खास युवा वर्ग की जिंदगी के बहुत सारे शेड हैं. वह युवा वर्ग जिसमें पैशन है पर पेशेंस नहीं है. जो बेहद हड़बड़ाया हुआ और बेसब्र है।

Book Details

Weight 118 g
Dimensions 20 × 14 × 4 cm
Pages:   176

बकर पुराण – Bakar Puran is a biography of all those bachelor guys who leave their homes for cities like Delhi and become a part of the city. The pages of this book contain stories of every bachelor who fell in love, did stupid things and discussed India’s foreign policy at the neighborhood tea stall. Bakar Puran is the past, present and the future of those bachelors which will always be the same. The language and style has the realism of a bachelor pad. Here, there is no garb of elitism in expression. Whatever it is, it just is.

बिहार के बेगूसराय ज़िले के छोटे से गाँव रतनमन बभनगामा में जन्मे अजीत भारती की शुरूआती शिक्षा सैनिक स्कूल तिलैया में हुई। किरोड़ीमल कॉलेज़ (DU) से अंग्रेज़ी साहित्य में स्नातक किया। तदोपरांत पत्रकारिता में स्नातकोत्तर किया। फिर TOI, ET और IANS में काम किया। फिर सहायक प्रोफ़ेसर के रूप में दिल्ली के एक कॉलेज़ में पत्रकारिता की शिक्षा भी दी। आजकल शिकागो से संचालित एक न्यूज़ पोर्टल में सहायक संपादक हैं। हिंदी और देवनागरी लिपि को प्रोत्साहन देने के लिए, अपने मित्र सान्निध्य द्वारा शुरू किए गए फ़ेसबुक पेज़ 'बकर अड्डा' से जुड़े और वहाँ व्यंग्य, संस्मरण, कविता, कहानियाँ लगातार लिखते रहे।